सूचना का अधिकार

सं

  सेमी-कंडक्‍टर लेबोरेटरी को संस्‍था के रूप में 8 नवम्‍बर, 2005 को संस्‍था पंजीकरण अधिनियम 1860, यथासंशोधित पंजाब संशोधन अधिनियम 1957 के अधीन पंजीकृत किया गया।  संस्‍था का मुख्‍य उद्देश्‍य माइक्रोइलैक्‍ट्रॉनिक्‍स के क्षेत्र में कटिंग एज प्रौद्योगिकी के तहत् युक्तियों की अभिकल्‍पना अनुसंधान, विकास बहु एकीकृत परिपथों और अतिसूक्ष्‍म वैद्युत यांन्त्रिकी प्रणाली (मैम्‍स) पर आधारित प्रणालियों एवं उपप्रणालियों का निर्माण करना है।  सार्वजनिक क्षेत्र के प्रतिष्‍ठान सेमीकंडक्‍टर कॉम्‍प्‍लेक्‍स लिमिटेड की सारी परिसम्‍पतियों को सरकार द्वारा अंतरित करने के बाद  संस्‍था 01-09-2006 से अस्तित्‍व में आई, जिसे अंतरिक्ष विभाग, भारत सरकार द्वारा चलाया जा रहा है।
   

गतिविधियॉं / क्रिया-कलाप

  एससीएल द्वारा अपने उद्देश्‍यों को ध्‍यान में रखते हुए मुख्‍य तकनीकी क्रिया-कलापों को निम्‍न क्षेत्रों में किया जा रहा है:
वीएलएसआई एवं मैम्‍स संविरचना, असैम्‍बली एवं परीक्षण
वीएलएसआई अभिकल्‍पना एवं प्रक्रिया प्रौद्योगिकी का विकास
प्रणाली इंजीनियरिंग एवं असैम्‍बली
तकनीकी सहायक सेवाएं
विश्‍वसनीयता और गुणवत्‍ता आस्‍वस्‍तता

लेबोरेटरी सा.अ.सि.नगर (पंजाब) में चंडीगढ़ के समीप स्थित है। एससीएल संस्‍था को सेमी-कंडक्‍टर लेबोरेटरी (एससीएल) संस्‍था और प्रबंधन समिति के द्वारा चलाया जा रहा है।


संगठन की संरचना 

  संगठन की संरचना लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें.
   

अधिकारियों एवं कर्मचारियों के अधिकार एवं कार्य

  प्रत्‍येक इकाई में सुगमता से कार्य निष्‍पादन को ध्‍यान में रखते हुए अंतरिक्ष विभाग ने अपनी इकाइयों को अधिकार दिए हैं।  इसी के अनुरूप एससीएल संस्‍था के कार्य को सुगमता से चलाने के लिए निदेशक एससीएल को प्रशासनिक एवं गतिविधियों के लिए विभागाध्‍यक्ष के तौर पर अधिकार सौंपे हैं। निदेशक ने अपने वित्‍तीय एवं प्रशासनिक अधिकारों को आवश्‍यक तौर पर गतिविधियों के प्रचालन के लिए निचले स्‍तर पर सौंपे हैं।
   

निर्णय लेने की प्रक्रिया में अपनाए गए तरीकों में पर्यवेक्षण एवं जवाबदेही भी शामिल है

 

संगठन में तीन तरह के निर्णय लिए जाते हैं जैसे : तकनीकी, प्रशासनिक एवं वित्‍तीय

माइक्रोइलैक्‍ट्रॉनिक्‍स के क्षेत्र में अनुसंधान एवं विकास को प्रौन्‍नत करने एवं वीएलएसआई/मैम्‍स पर आधारित डिवाइसिस एवं सिस्‍टमस के विनिर्माण के लिए एससीएल प्रबंधन समिति, तकनीकी गतिविधियों के क्रियान्‍वयन के लिए जिम्‍मेदार है।  किसी भी संगठन में परियोजना स्‍तरीय निर्णयों को प्रत्‍येक परियोजना से संबंधित अधिकारियों द्वारा लिया जाता है।  एससीएल ने भी परियोजना प्रबंधन ढांचे को, इसकी बड़ी परियोजनाओं की समीक्षा के लिए बनाया है जिसमें परियोजना समीक्षा बोर्ड, वैज्ञानिक समिति आदि हैं।

कर्मचारियों संबंधी प्रशासनिक निर्णय अधिकारियों के सांझा निर्णय के आधार पर लिया जाता है। 

अधिकारियों के द्वारा वित्‍तीय निर्णय भी उन्‍हें प्राप्‍त अधिकारों के अनुरूप किया जाता है।
   

एससीएल द्वारा बनाए गए प्रतिमानक, उनकी अनुपालना और गतिविधियॉं

 

भारत सरकार द्वारा बनाए गए नियमों और विनियमों जिनमें मूल नियम, अनुपूरक नियम, सामान्‍य वित्‍तीय नियम आदि हैं जिन्‍हें अंतरिक्ष विभाग द्वारा लागू किया गया है, जिन्‍हें आवश्‍यकतानुसार संशोधन करके स्‍वीकारा गया है। 

एससीएल ने अंतरिक्ष विभाग के दिशानिर्देशों के त‍हत् क्रय प्रक्रिया को अपनाया है जिसमें क्रय प्रबंधन आदि शामिल हैं जिसे संक्षिप्‍त तौर पर नीचे दर्शाया गया है।
 

क्रय प्रबंधन

लेबोरेटरी में अनुसंधान एवं विकास के लिए निर्माण कार्यों के लिए विभिन्‍न इलैक्‍ट्रॉनिकी/यांत्रिकी/वैद्युत उपकरण, संघटकों, कच्‍ची सामग्री एवं संविरचना के कार्यों के लिए क्रय का कार्य होता है।  इन गतिविधियों में एससीएल अंतरिक्ष विभाग के नियमों के तहत् निविदा के माध्‍यम से क्रय का कार्य करता है, जो इस प्रकार है:-

(क)   सार्वजनिक निविदा

(ख)   सीमित निविदा

(ग)   एकल निविदा (मालिकाना/आपात काल/मशीनों का मानकीकरण/अतिरिक्‍त कल-पुर्जे)

सार्वजनिक निविदा को प्रतिष्ठित समाचार पत्रों में प्रकाशित किया जाता है और एससीएल/इसरो की वैबसाइट में डाल दिया जाता है।  लोक निविदा को आपूर्तिकर्ता/वैंडरों की उपस्थिति में खोला जाता है। सीमित निविदा एससीएल के क्रय प्रभाग के डाटा बैंक में उपलब्‍ध वैंडरों को ही जारी की जाती है।  प्राप्‍त निविदाओं का तकनीकी मूल्‍यांकन विधिवत् गठित तकनीकी मूल्‍यांकन कमेटी/उपयोग करने वाले प्रभागों के द्वारा किया जाता है और उनकी सिफारिशें तकनीकी तौर पर स्‍वीकार्य एवं न्‍यूनतम मूल्‍यों पर आधारित होती हैं। इन सिफारिशों की पुन: समीक्षा मूल्‍यों पर आधारित गठित की गई निम्‍न क्रय समिति द्वारा की जाती है।

(क)   एकल विंडो निकासी कमेटी (समिति)

(ख)   ठेके पर अंतिम निर्णय लेने वाली समिति

एससीएल, अंतरिक्ष विभाग से क्रय अनुमोदन प्राप्‍त करता है जो अंतरिक्ष विभाग के नियमों के अनुरूप क्रय आदेश के मूल्‍यों के तहत् होता है।

सिविल के कार्यों के निष्‍पादन में(जिसमें वैद्युत/यांत्रिकी आदि शामिल हैं) सुविधा संविदा मैनुअल/सीपीडब्‍ल्‍यूडी मैनुअल/डॉस के दिशा निर्देश निम्‍न हैं।
 

वित्‍तीय प्रबंधन

अनुमोदित बजट में उपलब्‍ध प्रावधानों को ध्‍यान में रखते हुए/एससीएल के परियोजना निदेशक को परियोजना क्रय पर खर्च करने की मंजूरी अंतरिक्ष विभाग से प्राप्‍त अधिकारों के तहत् है। अनुमोदित बजट के खर्च पर नियंत्रण रखने के लिए लेखा प्रभाग में प्रणाली लगाई गई।

एससीएल की गतिविधियों के लिए एससीएल के कर्मचारियों द्वारा प्रयुक्‍त नियम, विनियम, निर्देश, मैनुअल एवं अभिलेखों का रिकार्ड

 

मूलभूत नियमों के तौर पर, अनुपूरक नियमों, सामान्‍य वित्‍तीय नियमों आदि नियम भारत सरकार द्वारा बनाए गए हैं और जिन्‍हें अंतरिक्ष विभाग द्वारा यथा समय पर उपयुक्‍त संशोधन के लिए विनिर्दिष्‍ट किया गया है।  एससीएल और इसके कर्मचारियों द्वारा निम्‍न नियमों, मैनुअलों आदि को इसकी गतिविधियों को चलाने के लिए प्रयोग मं लाया जाता है:-

(i)    मूल नियम

(ii)    अनुपूरक नियम

(iii)   सामान्‍य वित्‍तीय नियम

(iv)   अंतरिक्ष विभाग के कर्मचारियों के लिए (सीसीए) नियम 1976

(v)    सीएचएसएस नियम

(vi)   सीएसएमए नियम (जहॉं सीएचएसस सुविधा उपलब्‍ध नहीं है)

(vii)   सुविधाएं निविदा मैनुअल/सीपीडब्‍ल्‍यू डी मैनुअल/अंतरिक्ष विभाग के दिशा निर्देश

(viii)  सीसीएस (पेंशन) नियम 1972

(ix)   सीसीएस कन्‍डक्‍ट नियम 1964

(x)    क्रय प्रक्रिया, अंतरिक्ष विभाग
   

उन दस्‍तावेजों का विवरण, जो एससीएल द्वारा बनाए गए हैं अथवा एससीएल के नियंत्रण में है

 

क्रय प्रबंधन, कार्मिक प्रबंधन से संबंधित दस्‍तावेज जो एससीएल में हैं। निम्‍न दस्‍तावेजों को संस्‍था द्वारा बनाया गया है:

(i)                 मूल नियम

(ii)               अनुपूरक नियम          

(iii)   सामान्‍य वित्‍तीय नियम

(iv)   अंतरिक्ष विभाग के कर्मचारियों के (सीसीए नियम) 1976

(v)    सीएचएसएस नियम

(vi)   सीएसएमए नियम (जहॉं सीएचएसएस सुविधा उपलब्‍ध नहीं है)

(vii)   सुविधाएं निविदा मैनुअल/सीपीडब्‍ल्‍यू डी मैनुअल/अंतरिक्ष विभाग के दिशानिर्देश

(viii)  सीएसएस (पेंशन) नियम 1972

(ix)   सीएसएस अपील नियम 1964

(x)    क्रय प्रक्रिया, अंतरिक्ष विभाग

(xi)   वार्षिक रिपोर्ट
   

विशेष परामर्श की व्‍यवस्‍था अथवा एससीएल द्वारा नीतियों एवं उनके क्रियान्‍वयन में जनप्रतिनिधित्‍व

  राष्‍ट्रीय प्रयोगशालाओं में नीतियों के निर्धारण एवं उनके क्रियान्‍वयन में जन प्रतिनिधित्‍व की अहम् भूमिका रही है, एससीएल में होने वाली गतिविधियों की रिपोर्ट जनता के लिए वेबसाइट पर उपलब्‍ध है जो जनता के सुझावों को उपलब्‍ध कराने का अवसर प्रदान करती है।
   

बोर्डों के कथन, परिषदों, समितियों और अन्‍य निकायों और इनकी बैठकें आदि जो जनता के लिए की जाती हैं और इन बैठकों के कार्यवृत्‍त जो जनता तक पहुँचते हैं

  (A) सेमी-कंडक्‍टर लेबोरेटरी (एससीएल) संस्‍था का संयोजन. ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
  (B) सेमी-कंडक्‍टर लेबोरेटरी प्रबंधन समिति का संयोजन. ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
   
  इन निकायों की बैठकें लोगों के समक्ष न होकर सदस्‍यों के समक्ष होती हैं।  इन बैठकों का कार्यवृत लोगों तक नहीं पहुंचता है।
   

अप्रकटिकरण मदों की सूची

 

क.    जिन अन्‍य पार्टियों के साथ एससीएल पहले से ही अप्रकटीकरण करारनामें की  जिम्‍मेदारी में है, उनकी सूचना ।

ख.    सीमॉस/मेम्‍स/ओप्‍टोइलेक्‍ट्रानिक फैब्रिकेशन, असैम्‍बली एवं पेकेजिंग और परीक्षण से सं‍बधित विवरण।

ग.     ले-आउट, उपकरणों का विस्‍तार और फैब्रिकेशन सुविधा का फोटोग्राफ और अन्‍य इन्‍फ्रास्‍टक्‍चर।

घ.     फ्रंट/बैकएंड डिजाइन और चिप/डिवाइसिस का ले-आउट ।

ङ.      प्रणालियों/इलेक्‍ट्रानिक बोर्डों के डिजाइन का विवरण।

   

पदों के अनुरूप कार्य संचालक अधिकारियों की निदेशिका

  दों के अनुरूप कार्य संचालक अधिकारियों की निदेशिका लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें.
   

सेमी-कंडक्‍टर लेबोरेटरी (एससीएल) के सामान्‍य संपर्क नंबर

  दूरभाष: (0172) 2296000, 2296100, 2296200, 2296300, 2296400; फैक्‍स: (0172) 2236401
   

कर्मचारियों का पे मैट्रिक्‍स में वेतन का स्‍तर

  कर्मचारियों का पे मैट्रिक्‍स में वेतन का स्‍तर लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें.
   

एससीएल बजट

  एससीएल बजट लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें.
   

रियायती कार्यक्रमों के निष्‍पादन के तरीके एवं ऐसे कार्यक्रमों के लाभार्थियों का विस्‍तृत ब्‍यौरा

  एससीएल किसी भी रियायत कार्यक्रम का निष्‍पादन नहीं करता।
   

एससीएल द्वारा मंजूर किए गए प्राधिकृत छूट प्राप्‍तकर्ता, परमिट का ब्‍यौरा

  एससीएल ने किसी को कोई अनुज्ञापत्र/प्राधिकरण अथवा छूट नहीं दी है।
   

एससीएल के अधिकारी जिनका पद भारत सरकार के संयुक्‍त सचिव और उनसे ऊपर का है, उनके विदेशी/घरेलू दौरों की विस्‍तृत जानकारी

  दौरों की विस्‍तृत जानकारी लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें.
   

एससीएल द्वारा इलैक्‍ट्रॉनिक फार्म में उपलब्‍ध सूचना

  एससीएल द्वारा इलैक्‍ट्रॉनिक फार्म में उपलब्‍ध सूचना लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें .
   

नागरिकों के लिए एससीएल के बारे में जानकारी की सुविधा का विवरण

  एससीएल की वेबसाइट पर http://www.scl.gov.in पर वार्षिक रिपोर्ट उपलब्‍ध रहती है।  एससीएल की तकनीकी गतिविधियों की नागरिक जानकारी ले सकते हैं।
   

सेमी - कंडक्‍टर लेबोरेटरी (एससीएल) में केन्‍द्रीय लोक सूचना अधिकारी, वैकल्पिक केन्‍द्रीय लोक सूचना अधिकारी सहायक लोक सूचना अधिकारी, पारदर्शी अधिकारी एवं प्रथम अपीलीय प्राधिकारी का नाम, पदनाम एवं अन्‍य विवरण

केन्‍द्रीय लोक सूचना अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
वैकल्पिक केन्‍द्रीय लोक सूचना अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
सहायक केन्‍द्रीय लोक सूचना अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
पारदर्शी अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
नोडल अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
प्रथम अपीलीय प्राधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
   

सेमी - कंडक्‍टर लेबोरेटरी (एससीएल) में लोक शिकायत अधिकारी, लोक संपर्क अधिकारी एवं संपर्क अधिकारी

लोक शिकायत अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
लोक संपर्क अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति कर्मचारियों के लिए सम्‍पर्क अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )
अन्‍य पिछड़े वर्ग के कर्मचारियों के लिए संपर्क अधिकारी ( लिंक खोलने के लिए क्‍लिक करें )